Breakup Shayari | best breakup shayari in hindi

Breakup Shayari: Breakup may be huge in anyone’s life. browsing a breakup isn’t easy and its the worst feeling ever. Letting go of the one you’re keen on especially after weeks or maybe years of accumulating treasured
memories can desire tearing yourself in two.
Read here latest Breakup Shayari girlfriend or boyfriend or set as Facebook or WhatsApp status Sms available in Hindi
Share the simplest Breakup Shayari collection in Hindi. Enjoy your Breakup Shayari on the online, Facebook and blogs.

भटकती फिरती है मोहब्बत हवस के नाम पर
दो रूहो का मिलन देखे जमाना बीत गया

क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है

वो लोग जो तुमको कभी कभी याद आते है
कभी हमको भी इन में शामिल करना

जाने लागे जब वो छोड़ के दामन मेरा,
टूटे हुए दिल ने एक हिमाक़त कर दी,
सोचा था कि छुपा लेंगे ग़म अपना,
मगर कमबख्त आँखों ने बगावत कर दी।

खुद को खुद से बिछड़ते देखा
खुद को खुद से बिछड़ते देखा
रुक्सत यार का भी क्या मंजर था यारो
हमने खुद को Khud से बिछड़ते देखा

लेकर हम दुसरो की हंसी क्या करें
जो अपनी नहीं वो ख़ुशी क्या करें
तनहा जीने से बेहतर है मर जाएं हम
जब साथ तुम नहीं तो ज़िन्दगी जी कर क्या करें

अब भी हसीन सपने आँखों में पल रहे हैं !
पलकें हैं बंद फिर भी आँसू निकल रहे हैं !
नींदें कहाँ से आएँ बिस्तर पे करवटें ही !
वहाँ तुम बदल रहे हो यहाँ हम बदल रहे हैं !!

एक तेरा नाम लेते ही
मेरे चेहरें पर मुस्कान आ जाती है
मै कितनी ही मुश्किल में क्यों ना हूं
मेरी जान में जान आ जाती है

लेकर हम दूसरो की हंसी क्या करें
जो अपनी नहीं वो ख़ुशी क्या करें
तनहा जीने से बेहतर है मर जाएं हम
जब साथ तुम नहीं तो ज़िन्दगी जी कर क्या करें

लेते हो जब मुझको तुम अपने इश्क़ की पनाहो में,
ये कौनसा जादू तुम करते हो
जो मैं खींची चली आती हूँ तुम्हारी बाहों में

ये मेरे दिल की धड़कन क्यों तेज होती है , ये मेरी साँसे क्यों उखड़ती हैं ?
जब भी तुम मुझे देखते हो आँखों ही आँखों में !!

कोई खबर नही उनकों,क्या हम पर गुज़री है
अकेले तन्हा तन्हा रातेंदर्द बन कर सीने से उतरी है

एक खता हुई है हमसें, जो तेरा दीदार कर लिया
दुसरा तो गुनाह ही हो गया, जो तुमसें ही प्यार कर लिया

जब लिख ही दिया है तूने मेरा नाम रेत पर,
मिटने का फिर मेरे तू तमाशा भी देख ले।

किसी का कत्ल करने पर सजा-ए-मौत है लेकिन,
सजा क्या हो अगर दिल कोई किसी का तोड़ दे?

लेकर हम दुसरो की हंसी क्या करें
जो अपनी नहीं वो ख़ुशी क्या करें
तनहा जीने से बेहतर है मर जाएं हम
जब साथ तुम नहीं तो ज़िन्दगी जी कर क्या करें
एक बात जरा सुनलो मेरी ,
जानलो क्या है आखरी ख्वाहिश मेरी ,
शायद तेरे लिए अब मैं कुछ न रही ,
पर मेरे लिए मैं बस हूँ तेरी

प्यार मोहब्बत तो सभी करते हैं
दर्द -इ -जुदाई से सभी डरते हैं ,
हम न तुमसे प्यार करते हैं और ना ही मोहब्बत ,
हम तो बस तुम्हारी एक मुस्कराहट पाने के लिए तरसते हैं …
चूम लूँ मैं लबों से अपनी ये आँखें तेरी ,
बेचैन कर दूँ मैं सारी रातें तेरी ,
खून बनकर समां जाऊं मैं तेरे जिस्म में ,
बनकर दिल तेरा मैं महसूस करून सांसें तेरी
दिल में अपनी मैंने तेरे प्यार की दास्ताँ लिखी है ,
ना कम ना तमाम लिखी है ,
कभी मेरे लिए भी दुआ मांग लिया करो मेरे सनम ,
क्योंकि मैंने अपनी हर एक सांस तेरे ही नाम लिखी है

 

 

Leave a Comment

%d bloggers like this: